कानपुर के 3510 बस, ट्रक, टैक्सी मालिकों को देने होंगे 21.33 करोड़ रुपये

0
11

कानपुर। शहर के 3510 ट्रक, बस, टैक्सी मालिकों को 21.33 करोड़ रुपये का टैक्स देना होगा। संभागीय परिवहन अधिकारी कार्यालय (आरटीओ) ने रोड व गाड़ियों के अन्य टैक्स जमा न करने वाहन स्वामियों को नोटिस जारी किया है। पहले चरण में साढ़े तीन हजार वाहन मालिकों की सूची तैयार की गई है। नोटिस मिलने पर ट्रक, बस, टैक्सी
संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है। काफी संख्या में लोगों ने आरटीओ आकर जानकारी शुरू कर दी है।
कानपुर में करीब 40 हजार ट्रक, 4500 बस, दस हजार के आसपास टैक्सी (कार) हैं, जिनके संचालन के लिए रोड टैक्स समेत कई अन्य तरह के टैक्स लगते हैं। इनको हर वर्ष जमा करना पड़ता है। पिछले पांच सालों में 27561 वाहन स्वामियों ने टैक्स नहीं जमा किया। उनके ऊपर 64.59 करोड़ रुपये की बकायेदारी हो गई है। कुछ को पूर्व में नोटिस दिया जा चुका है। परिवहन अधिकारियों ने इसी महीने 3510 वाहन मालिकों को नोटिस भेजा है। उनके ऊपर 21.33 करोड़ रुपये का टैक्स बकाया है। एआरटीओ प्रशासन राजेश राजपूत ने बताया कि नोटिस के साथ ही वाहन मालिकों को कॉल भी की जा रही है। कुछ ने जल्द ही टैक्स जमा करने की हामी भरी है। कई वाहन मालिक ऑनलाइन टैक्स जमा कर रहे हैं। पिछले पांच वर्षों में लंबे बकायेदारों की सूची तैयार कर ली गई है। टैक्स न जमा करने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ई-रिक्शा की संख्या में इजाफा
आरटीओ में करीब 42 हजार ई-रिक्शा पंजीकृत हैं, जबकि इससे काफी ज्यादा संख्या में सड़कों पर फर्राटा भर रहे हैं। पुलिस और परिवहन विभाग की ओर से उनके लिए कई तरह की प्लानिंग की जाती है, लेकिन कुछ दिनों बार स्थिति जस की तस रहती है। शहर की सड़कों पर उनकी अराजकता शुरू हो जाती हैै। सबसे अधिक समस्या रेलवे क्राॅसिंग और चैराहों पर आती है। सवारियां बिठाने और पहले निकलने के चक्कर में जाम का चक्रव्यूह तैयार कर देते हैं। इसकी वजह से कुछ ही देर में बड़ा हिस्सा प्रभावित हो जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here