आईआईटी के प्रो. शलभ को मिलेगा नामी अवार्ड

0
79

कानपुर। मैथमेटिकल, स्टेटिस्टिकल माॅडलिंग और डेटा साइंस से कोरोना की तीसरी और चौथी लहर की सटीक भविष्यवाणी करने वाले आईआईटी कानपुर के प्रो. शलभ को नामी अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। उन्हें इंडियन सोसाइटी ऑफ प्रोबेबिल्टि एंड स्टेटिस्टिक्स की ओर से शोध, प्रोजेक्ट और सरकार के सहयोग में किए गए कार्यों के लिए प्रो.के श्रीनिवास राव बेस्ट रिसर्च अवार्ड 2023 मिलेगा। प्रो. शलभ की मैथ्स और स्टेटिस्टिक्स से संबंधित करीब आधा दर्जन किताबें भी प्रकाशित हो चुकी हैं। उन्हें यह सम्मान अगले महीने प्रयागराज विश्वविद्यालय में सोसाइटी की अंतरराष्ट्रीय कांफ्रेंस में दिया जाएगा। वह संस्थान के गणित और सांख्यिकी विभाग की फैकल्टी हैं। उनके पास डीन एकेडमिक अफेयर्स का चार्ज भी है। उनकी कामयाबी पर उन्हें अन्य फैकल्टी, स्टाफ और छात्रों की ओर से बधाई मिल रही है।
प्रो.शलभ को पिछले वर्ष कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय की ओर से ई-गवर्नेंस का नेशनल अवार्ड मिला था। उन्होंने प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग के लिए स्टेटिस्टिक्स और डेटा साइंस का प्रयोग करके इस तरह की वेबसाइट विकसित की, जिससे शिकायतों का निस्तारण जल्द से जल्द हो सके। शिकायत सीधे संबंधित अधिकारी तक पहुंचने लगी। इससे पूर्व उन्हें 2021 में इंडियन सोसाइटी ऑफ मैथमेटिकल माॅडलिंग एंड कंप्यूटर सिमुलेशन की ओर से डिस्टिंग्विस्ड माॅडलर्स मेडल, 2018 में डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलाॅजी की ओर से विज्ञान रत्न सम्मान, 2014 में इंटरनेशनल इंडियन स्टेटिस्टिकल एसोसिएशन की ओर से आईआईएसए यंग रिसर्च अवार्ड से नवाजा जा चुका है। उन्हें पिछले वर्ष तीन साल के लिए संजय मित्तल चेयर प्रोफेसरशिप मिली है।

हिंदी में डेटा साइंस का उपयोग करना सिखाया
प्रो. शलभ ने आर साॅफ्टवेयर से सबसे पहले हिंदी छात्रों के लिए डेटा साइंस का उपयोग करना सिखाया। उनकी लिखी किताब इंट्रोडक्शन टू स्टेटिस्टिक्स एंड डेटा एनालिसिस के पहले एडिशन को 5.39 मिलियन से अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं।

सबसे पहले जेईई एडवांस्ड का आयोजन कराया
देश में सबसे पहले जेईई एडवांस्ड का आयोजन आईआईटी कानपुर ने कराया। उस दौरान चेयरमैन प्रो.शलभ थे। उस समय किस तरह सीटों का आवंटन करना है। न्यूमरेरी सीटें किस तरह बढ़ाई जाएंगी, उसका सटीक आकलन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here